ntds

Neglected tropical diseases (NTDs) उपेक्षित उष्णकटिबंधीय रोग [UPSC GS]

उपेक्षित उष्णकटिबंधीय रोग (Neglected tropical diseases-NTDs), जो मुख्य रूप से उष्णकटिबंधीय क्षेत्रों में प्रचलित हैं, जहां वे ज्यादातर गरीब समुदायों को प्रभावित करते हैं और महिलाओं और बच्चों को समान रूप से प्रभावित करते हैं। ये रोग एक अरब से अधिक लोगों के लिए विनाशकारी स्वास्थ्य, सामाजिक और आर्थिक परिणामों का कारण बनते हैं।

उपेक्षित उष्णकटिबंधीय रोग क्या है

यह (Neglected tropical diseases) रोगो का वह समूह है जो उष्णकटिबंधीय क्षेत्रो में होता है। इसमें बहुत सामान्य से लगने वाले रोग शामिल है लेकिन इनका प्रभाव बहुत ही व्यापक है। इन रोगो से प्रभावित जनसंख्या सामूहिक रूप से गरीब है और इसके कारण इसके सामाजिक प्रभाव और गंभीर बन जाते है।

उपेक्षित उष्णकटिबंधीय रोग (NTDs) कारण

एनटीडी अक्सर पर्यावरणीय परिस्थितियों से संबंधित है। गंदगी, जानवर आदि से यह रोग फैलते है उनमें से कई वेक्टर-जनित हैं और वे जटिल जीवन चक्रों से जुड़े हैं। ये सभी कारक उनके सार्वजनिक-स्वास्थ्य नियंत्रण को चुनौतीपूर्ण बनाते हैं।

  • गरीबी
  • पशुपालन से फैलने वाले कीटाणुओं से
  • गंदगी और सफाई का ध्यान नहीं रखने से
  • जीवनशैली के कारण
Neglected tropical diseases (NTDs) उपेक्षित उष्णकटिबंधीय रोग, vector bourne diseases
Vector Diseases Cycle

इन बीमारियों को अनदेखा क्यों किया जाता है ?

  • इन बीमारियों की अनदेखी की गई है क्योंकि वे मुख्य रूप से विकासशील दुनिया के सबसे गरीब देशों को प्रभावित करते हैं
  • उपेक्षित उष्णकटिबंधीय रोगों परिणामों के महत्व को कम करके आंका गया है क्योंकि कई रोग लम्बे समय तक चलने के कारण साधारण जैसे बन गए है जिससे इसको आम माने जाने लगा है। और जिन क्षेत्रों में यह बीमारियों हो रही है वो उच्च स्थानिकता वाले क्षेत्र अक्सर भौगोलिक दृष्टि से अलग-थलग क्षेत्रों में होते हैं, जिससे उपचार और रोकथाम बन जाता है।
  • महंगा इलाज
  • कभी कभी गरीबी के कारण लोगो के पास इसे सहने के अलावा कोई और चारा नहीं होता है
  • जागरूकता और पर्याप्त संसाधनों की कमी

बिग थ्री (Big Three) क्या है ?

हाल ही में एचआईवी/एड्स, तपेदिक और मलेरिया (Big Three) के प्रसार को कम करने पर जोर दिया गया है। यह उपेक्षित उष्णकटिबंधीय रोग (NTDs) में शामिल सबसे बड़े रोग है जो काफी लम्बे समय तक रहते है इस कारण इसका सामाजिक प्रभाव भी ज्यादा है।

उपेक्षित उष्णकटिबंधीय रोग सबसे ज्यादा कहां फैले हुए हैं ?

Neglected tropical diseases (NTDs) उपेक्षित उष्णकटिबंधीय रोग, ntds countries
Source: WHO (Global Source Observatory)

यह बीमारियों का समूह उष्ण कटिबंधीय क्षेत्रों में है अतः एशिया, लैटिन अमेरिका, अफ्रीका में यह सबसे ज्यादा फैले हुए है। भारत, चीन, पाकिस्तान, अफ्रीकी देश, ब्राज़ील आदि में सबसे ज्यादा संख्या है। पुरे विश्व में लगभग 1.7 अरब लोग इससे प्रभावित है।

उपेक्षित उष्णकटिबंधीय रोग (NTDs) में शामिल बीमारियां

एनटीडी – उपेक्षित उष्णकटिबंधीय रोग (NTDs) में शामिल हैं:

  • बुरुली अल्सर,
  • चागास रोग,
  • डेंगू और चिकनगुनिया,
  • ड्रेकुनकुलियासिस (गिनी-कृमि रोग),
  • इचिनोकोकोसिस,
  • खाद्यजनित ट्रैमेटोडायसिस,
  • मानव अफ्रीकी ट्रिपैनोसोमियासिस (नींद की बीमारी),
  • लीशमैनियासिस, कुष्ठ रोग (हैनसेन रोग),
  • लिम्फैटिक फाइलेरिया,
  • मायसेटोमा,
  • क्रोमोब्लास्टोमा,
  • क्रोमोब्लास्टोमायसिस और अन्य डीप मायकोसेस,
  • ओंकोसेरसियासिस (रिवर ब्लाइंडनेस),
  • रेबीज, स्केबीज और अन्य एक्टोपैरासिटोस,
  • शिस्टोसोमियासिस,
  • मृदा-संचारित कृमिनाशक,
  • सर्पदंश का जहर,
  • टैनिआसिस/सिस्टिसरकोसिस,
  • ट्रेकोमा,
  • यॉ (Yaws) और अन्य स्थानिक ट्रेपोनेमेटोज।

उपेक्षित उष्णकटिबंधीय रोगों (NTDs) की रोकथाम के लिए WHO के लक्ष्य और प्रयास

एनटीडी को नियंत्रित करने, रोकने, खत्म करने के लिए डब्ल्यूएचओ (WHO) ने 2021-2030 तक का नए एनटीडी रोड मैपthe new NTD road map for 2021-2030) बनाया है, जो वर्टिकल रोग कार्यक्रमों से दूर एकीकृत क्रॉस-कटिंग दृष्टिकोण की ओर जाता है। इसका उद्देश्य व्यक्तिगत केस प्रबंधन, वेक्टर नियंत्रण, पशु चिकित्सा, सार्वजनिक स्वास्थ्य और पानी और स्वच्छता (WASH) जैसे सार्वजनिक स्वास्थ्य संकेतकों में हस्तक्षेप करके उसे नियंत्रण में लाना है।

2030 के संधारणीय वैश्विक लक्ष्यों (SDG) की प्राप्ति के लिए एनटीडी उपचार की आवश्यकता वाले लोगों की संख्या में 90% की कमी शामिल है।

World NTD Day कब मनाया जाता है ?

30 जनवरी

यह आर्टिकल आधिकारिक स्त्रोत जैसे प्रमाणित पुस्तके, विशेषज्ञ नोट्स आदि से बनाया गया है। निश्चित रूप से यह सिविल सेवा परीक्षाओ और अन्य परीक्षाओ के लिए उपयोगी है।

Share and follow

अगर यह आर्टिकल आपको उपयोगी लगा तो इसे शेयर करना न भूले और नीचे दिए लिंक पर फॉलो भी करे


READ MORE AND FOLLOW US