1991 का भुगतान संतुलन का संकट [Balance of Payment Crisis]

Balance of Payment Crisis, BHUGTAN SANTULAN KA SANKAT

1991 का भुगतान संतुलन का संकट (Balance of Payment Crisis) भारत के लिए एक बड़ा खतरा था। भारत में कुछ दिनों का ही विदेशी रिज़र्व बचा था। ऐसे में अर्थव्यवस्था एक ऐसे मोड़ पर आ गयी थी जहाँ भारत को नए प्रयोग करने पड़े और अन्तराष्ट्रीय प्रणालियों से तालमेल बैठना पड़ा। ऐसा आर्थिक संकट भारत … Read more

संविधान की 6वीं अनुसूची क्या है [6th schedule]

about 6th schedule

संविधान का 6वीं अनुसूची (6th schedule) असम, मेघालय, मिजोरम और त्रिपुरा के आदिवासी क्षेत्रों के लिए एक विशेष व्यवस्था स्थापित करता है, जिसका उद्देश्य जनजातियों का सशक्तिकरण है। 4 राज्यों के जनजातीय क्षेत्रों में पूरी तरह से स्वतंत्र जिले हैं। लेकिन यह राज्य के प्रशासनिक अधिकार से बाहर नहीं है। राज्यपाल को इन जिलों को … Read more

भारत में पंचायती राज प्रणाली [Panchayati Raj System – FAQs]

pri system in india

भारत में पंचायती राज प्रणाली ( Panchayati Raj System) और ग्राम आत्मनिर्भरता का अनुभव प्राचीन काल से रहा है जैसे उत्तरमेरूर अभिलेख में तमिलनाडू के प्राचीन ग्रामो में वारियाम समितियों द्वारा निर्णय लिए जाते थे लेकिन संवैधानिक ग्रामीण स्वायत्तता की शुरुआत भारत में औपनिवेशिक काल से शुरू हो गयी थी जो महात्मा गाँधी के स्वराज … Read more