करेंसी स्वैप अरेंजमेंट (Currency Swap Arrangement) ?

करेंसी स्वैप अरेंजमेंट (currency swap arrangement) शब्द का अर्थ है मुद्रा की अदला बदली या विनिमय। यह कोई दो देशों के बीच एक मुद्रा विनिमय पूर्व निर्धारित नियमों और शर्तों के साथ मुद्राओं का आदान-प्रदान करने के लिए एक समझौता या अनुबंध है।

केंद्रीय बैंक और सरकारें अल्पकालिक विदेशी मुद्रा तरलता आवश्यकताओं को पूरा करने के लिए या भुगतान संतुलन (BoP) संकट से बचने के लिए पर्याप्त विदेशी मुद्रा सुनिश्चित करने के लिए विदेशी समकक्षों के साथ मुद्रा स्वैप में संलग्न होती हैं.

PLEASE FOLLOW ON INSTAGRAM 👉️@mehra_ankita9

करेंसी स्वैप अरेंजमेंट (Currency Swap Arrangement) के उदाहरण

उदाहरण के लिए, वर्ष 2018 में भारत और जापान ने एक द्विपक्षीय मुद्रा विनिमय समझौते (Currency Swap Arrangement) पर हस्ताक्षर किए। RBI को निश्चित राशि येन में मिलेगी और बैंक ऑफ जापान को भारतीय रुपये में एक निश्चित स्वैप दर के बराबर राशि मिलेगी। एक निर्दिष्ट अवधि के बाद, दोनों देश एक ही स्वैप दर से राशि का भुगतान करेंगे।

करेंसी स्वैप अरेंजमेंट (Currency Swap Arrangement )

भारतीय रिजर्व बैंक ने श्रीलंका के केंद्रीय बैंक के साथ 40 करोड़ डॉलर की मुद्रा अदला- बदली समझौता किया है। रिजर्व बैंक ने एक विज्ञप्ति में यह जानकारी दी। विज्ञप्ति के मुताबिक श्रीलंका का केंद्रीय बैंक आरबीआई से डॉलर, यूरो या भारतीय रुपये में कई चरणों में मुद्रा की अदला-बदली कर सकता है। यह समझौता दक्षेस मुद्रा अदला-बदली व्यवस्था (Currency Swap Arrangement) के तहत किया गया है। यह समझौता 13 नवंबर 2022 तक मान्य रहेगा।

भारत ने करेंसी स्वैप अरेंजमेंट किन किन देशों के साथ किया हुआ है ?

इसमें ज्यादातर तेल बेचने वाले देश हैं. अग्रणी तेल निर्यातक देशों में अंगोला, अल्जीरिया, नाइजीरिया, ईरान, इराक, ओमान, कतर, वेनेजुएला, सऊदी अरब और यमन जैसे देश हैं जिसके साथ भारत का करेंसी स्वैप अरेंजमेंट है।

कुछ ऐसे देश भी हैं जिनके साथ तेल निर्यात का संबंध नहीं है लेकिन भारत का उनके साथ करेंसी स्वैप अरेंजमेंट है. इन देशों में जापान, रूस, ऑस्ट्रेलिया, दक्षिण कोरिया जैसे देश हैं. इसके अलावा सिंगापुर. इंडोनेशिया, मलेशिया, मैक्सिको, दक्षिण अफ्रीका और थाइलैंड भी हैं जिनके साथ करेंसी स्वैप अरेंजमेंट (Currency Swap Arrangement) है।

करेंसी स्वैप अरेंजमेंट के प्रकार

निम्नलिखित प्रकार के करेंसी स्वैप अरेंजमेंट आमतौर पर उपयोग किए जाते हैं:

  1. निश्चित मुद्रा स्वैप (Fixed Currency Swap):स्वैप के इस रूप में, इसमें एक मुद्रा में ऋण पर निश्चित ब्याज भुगतानों का आदान-प्रदान करना शामिल हो सकता है, जो कि किसी अन्य मुद्रा में समकक्ष ऋण पर निश्चित ब्याज भुगतान के लिए होता है। यह आवश्यक नहीं है कि वास्तविक मूलधन की अदला-बदली की जाए। कभी-कभी, वैकल्पिक मुद्रा को मौके पर ही वांछित मुद्रा में बदला जा सकता है, हालांकि मूल राशि हमेशा स्वैप की परिपक्वता पर फिर से बदली जाती है।
  2. फ्लोटिंग करेंसी स्वैप (Floating Currency Swap): स्वैप के इस रूप में, एक मुद्रा में निश्चित दर दायित्वों को दूसरी मुद्रा में फ्लोटिंग दर दायित्वों के लिए स्वैप किया जाता है। उदाहरण के लिए, स्थिर दरों पर अमेरिकी डॉलर को LIBOR + फ्लोटिंग दर के साथ स्टर्लिंग से बदला जा सकता है।

करेंसी स्वैप अरेंजमेंट से डॉलर पर निर्भरता कम होती है

करेंसी स्वैप अरेंजमेंट ( Currency Swap Arrangement ) का सबसे बड़ा फायदा यह होगा कि तीसरे देश की मुद्रा का व्यापार में उपयोग नहीं किया जा सकेगा। जब दो देश अपनी स्थानीय मुद्रा में व्यापार करते हैं, तो डॉलर या यूरो की कोई आवश्यकता नहीं होगी।

इसके कारण, इन दो मुख्य मुद्राओं की आवाजाही अन्य देशों के व्यापार को प्रभावित नहीं करेगी। वर्तमान में, कई विदेशी निवेशक भारत से अपना पैसा निकाल रहे हैं और इसे संयुक्त राज्य में रख रहे हैं, जिससे डॉलर मजबूत हुआ है और रुपया गिर गया है। अब, जब दो देश स्थानीय मुद्रा में व्यापार करते हैं, तो डॉलर की कोई आवश्यकता नहीं होगी और आयात या निर्यात बहुत महंगा नहीं होगा।

करेंसी स्वैप अरेंजमेंट के अन्य लाभ

  • बाजार में विश्वास बढ़ाता है।
  • उपलब्ध पूंजी को सक्षम बनाता है
  • विदेशी पूंजी बाजार में प्रवेश करते समय भारतीय संस्थाओं के लिए पूंजी की लागत कम करता है
  • भारत में विदेशी मुद्रा और पूंजी बाजार में अधिक स्थिरता लाने में सहायता करता है

यह आर्टिकल आधिकारिक स्त्रोत जैसे प्रमाणित पुस्तके, विशेषज्ञ नोट्स आदि से बनाया गया है। निश्चित रूप से यह सिविल सेवा परीक्षाओ और अन्य परीक्षाओ के लिए उपयोगी है।

PLEASE FOLLOW ON INSTAGRAM 👉️@mehra_ankita9

About the author

Ankita is German Scholar and UPSC Civil Services exams aspirant. She is a blogger too. you can connect her to Instagram or other social Platform.



Leave a Comment