दुनिया के संघर्ष क्षेत्र (conflict zones of the world)

conflict area of the world

सशस्त्र संघर्ष विशेष रूप से इस प्रकार एक संघर्ष है जिसमें दो या ज्यादा देश शामिल हो जाते हैं या राज्य की सरकारी संस्थाओं के समक्ष एक या ज्यादा सशस्त्र समूह जो कि राज्य के विरुद्ध से उठ खड़े होते है।

राज्य के विरुद्ध संघर्ष के कारण कई हो सकते हैं लेकिन इनमें से कुछ सामान्य कारण है जो की हर बड़े संघर्ष में शामिल होते हैं जैसे कि सरकार की दमनकारी कार्रवाई, अंतरराष्ट्रीय राजनीति की असफलता, अतिवादी समूह की उत्पत्ति-जिसमें आतंकवाद और धार्मिक अतिवादी समूहों शामिल है, राजनितिक हिंसक गुटबंदी आदि।

इस क्रम में संघर्ष क्षेत्रों को मोटे-मोटे हम तीन भागों में बांट सकते हैं:

  • पश्चिमी एशिया उत्तरी अफ्रीका जिसे वाना (WANA- West Asia- North Africa) कहा जाता है
  • सब सहारन अफ्रीका
  • दक्षिण पूर्वी एशिया के कुछ हिस्से

2012 के बाद सीरिया इराक यमन और लीबिया में युद्ध में तेजी से वृद्धि से मौतों की संख्या में वृद्धि हुई है- पश्चिमी एशिया और उत्तरी अफ्रीका यानी वाना वर्तमान में दुनिया का सबसे खतरनाक क्षेत्र है। सब सहारा अफ्रीका में भी नाइजीरिया, डेमोक्रेटिक रिपब्लिक ऑफ़ कांगो, सोमालिया आदि शामिल है। इसके बाद मध्य और दक्षिणी एशिया का नाम आता है।

मध्य और दक्षिण एशिया में अफगानिस्तान और पाकिस्तान संविधानशील देश है। उत्तरी कोरिया भी एक ऐसा स्थान है जहा से दूसरा विश्व युद्ध शुरू हो सकता है।

इस आर्टिकल को इस वीडियो में देख सकते है।

manish janardhan iit mbm

About the Author

Manish love to write for people and he is a Civil Servant. Users can follow Manish on Instagram ankita mehra instagram

Comments

No comments yet. Why don’t you start the discussion?

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *