30 मार्च, 2020 को नासा ने सन रेडियो इंटरफेरोमीटर स्पेस एक्सपेरिमेंट (SUNRISE) मिशन की घोषणा की थी। मिशन यह अध्ययन करने के लिए है कि सूरज कैसे विशालकाय सौर कण तूफान बनाता है।

मिशन का उद्देश्य

 

मिशन का उद्देश्य सौर तूफानों का अध्ययन और सौर प्रणाली के काम को समझना है। यह अध्ययन भविष्य के अंतरिक्ष यात्रियों को मंगल की यात्रा करने और सौर तूफानों से बचाने में भी मदद करेगा।

मिशन के बारे में

 

मिशन को छह क्यूबसैट को जियोसिंक्रोनस-ऑर्बिट (Geosynchronous-orbit) में तैनात करना है। DARPA हाई-फ्रिक्वेंसी रिसर्च और मार्स क्यूब वन (MARCO) की सफलता के कारण मिशन संभव हो गया है।

SUNRISE को सौंपा गया कार्य

 

क्यूबेट्स सूर्य से उत्सर्जित कम आवृत्ति उत्सर्जन की रेडियो छवियों को पकड़ने के लिए रेडियो टेलीस्कोप का उपयोग करेंगे। इन्हें डीप स्पेस नेटवर्क के जरिए धरती पर भेजा जाएगा। इसके अलावा, क्यूबेट्स सूरज से उत्पन्न होने वाले विशाल कण के स्थान के बारे में जानने के लिए एक 3D मैपिंग बनाएंगे।

मिशन सूरज के स्पेक्ट्रम का अध्ययन करना है। यह महत्वपूर्ण है क्योंकि आयनमंडल के कारण पृथ्वी से सूर्य के स्पेक्ट्रम का अध्ययन नहीं किया जा सकता है।